Tuesday, June 18, 2024
अंतर्राष्ट्रीय

वैज्ञानिकों ने यह बीमारी के लिए दी चेतावनी, कोरोना वायरस से भी 100 गुना ज्यादा जानलेवा

नई दिल्ली। साल 2020 एक ऐसा समय था, जब पूरी दुनिया में कोरोना महामारी के कारण कहर मचा हुआ था। इस महामारी से ज्यादातर लोग प्रभावित हुए थे। इसकी वजह से हर दिन लाखों लोगों की मौत के मामले बढ़ते ही जा रहे थे। कोविड-19 के प्रभाव से आज भी दुनिया उभरी नहीं है। इसी बीच वैज्ञानिकों ने एक और महामारी के लिए दुनिया को सचेत कर दिया है। वैज्ञानिकों के मुताबिक यह वायरस कोरोना से भी 100 गुना ज्यादा खतरनाक है।

दरअसल, गाय, कुत्ते, बिल्ली और मनुष्यों में H5N1 नाम का संक्रमण पाया गया है। बर्ड फ्लू का H5N1 स्ट्रेन के कारण कई गंभीर समस्याएं होने की संभावना बढ़ सकती है। इस वायरस का खतरा मनुष्यों में तेजी से फैल सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक H5N1 वायरस के खतरे की संभावना लगातार बढ़ती ही जा रही है। यह वायरस मनुष्यों से लेकर स्तनधारियों को संक्रमित कर चुका है। इसे कोविड-19 से 100 भी गुना खतरनाक होने का दावा किया जा रहा है। यह मौत के मामलों को बनाए रखते हुए म्यूटेट हो सकता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के आधार पर H5N1 वायरस से मृत्यु दर का अनुमान लगभग 52% जताया जा रहा है। इसके मुकाबले कोविड-19 की मृत्यु दर काफी कम थी। इस वायरस के स्ट्रेन से संक्रमित करीब 25% से 30% लोगों की मौत हो चुकी है। इसके मामले अमेरिका में ज्यादा देखने को मिल रहे हैं।

एवियन इन्फ्लूएंजा H5N1 को बर्ड फ्लू के रूप में जाना जाता है, जिसके कारण बीते 3 सालों में लाखों पक्षियों की मौत हो चुकी है। साल 1997 में यह वायरस सबसे पहले चीन में हंसों के माध्यम से उभरा था। बाद में यह मनुष्यों में तेजी से फैलने लगा, जिससे कई करीब 50% लोगों की मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के टेक्सास राज्य में एक डेयरी फार्म वर्कर को H5N1 वायरस ने अपनी चपेट में ले लिया है। इस वायरस का संबंध बर्ड फ्लू से जताया जा रहा है। इस संक्रमण से बचने के लिए एंटीवायरल भी तैयार किया गया है।