Tuesday, June 18, 2024
उत्तराखंडक्राइमशिक्षा

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ ने तीन और अन्य अभियुक्तों के विरूद्ध गैंग चार्ट बनाकर जिलाधिकारी को भेजी रिपोर्ट, जिलाधिकारी ने किया अनुमोदन

देहरादून: यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा बताया गया कि अब तक 21 लोगों के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट में विवेचना की जा रही थी, विवेचना के दौरान 03 अन्य अभियुक्तों के खिलाफ इस गिरोह के साथ मिलकर परीक्षा में धांधली किये जाने में सक्रिय भूमिका निभाए जाने पर तीन अन्य अभियुक्तों गौरव नेगी पुत्र गोपाल सिंह निवासी नजीबाबाद पोस्ट सूर्यनगर थाना किच्छा,उधमसिंहनगर, विपिन बिहारी पुत्र राम शंकर निवासी ग्राम न्यामपुर थाना तालगांव जिला सीतापुर उत्तर प्रदेश हाल जानकीपुर लखनउ,उत्तर प्रदेश और संजीव कुमार चौहान पुत्र हर्षरूप निवासी एल 05-304, गुलमोहर गार्डन, राजनगर, एस्टेशन, गाजियाबाद,उत्तर प्रदेश मूल निवासी ग्राम ताराबाद, तहसील ठाकुरद्वारा, जनपद मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश, जो कि इस समय सुद्धोवाला वाला जिला कारागार देहरादून में निरूद्ध हैं, के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही सुनिश्चित की गयी है, जिसके तहत एसटीएफ द्वारा संशोधित गैंग चार्ट को बनाकर जिलाधिकारी देहरादून को प्रेषित किया गया था, जिसको जिलाधिकारी देहरादून द्वारा अनुमोदित कर दिया गया है। अब पेपर लीक मामले में 24 अभियुक्तों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट का मामला न्यायालय में चलेगा।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ द्वारा ये भी बताया गया कि पूर्व में 21 अभियुक्तों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में कार्यवाही की जा रही थी अब 24 अभियुक्तों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी, इस प्रकार से अन्य अभियुक्तों के साथ साथ अब इन तीनों अभियुक्तों की चल अचल सम्पत्ति को भी गैंगस्टर एक्ट के अन्तर्गत सीज करने की कार्यवाही भी की जायेगी।

गौरतलब है कि यूकेएसएसएससी द्वारा आयोजित कराई गई स्नातक स्तरीय परीक्षा 2021, सचिवालय रक्षक भर्ती परीक्षा, वन दरोगा ऑनलाइन भर्ती परीक्षा एवं ग्राम पंचायत विकास अधिकारी चयन परीक्षा 2016 में हुई धांधली को लेकर दर्ज अलग–अलग 04 मुकदमों की विवेचना एसटीएफ द्वारा की जा रही है। उपरोक्त सभी मुकदमों में एसटीएफ द्वारा अब तक कुल 54 अभियुक्तों की गिरफ्तारी की जा चुकी है।*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *