Thursday, June 13, 2024
राष्ट्रीय

मैरिको की नेशनल वर्ड पावर चैंपियनशिप में झारखंड केतीन छात्रों ने जीती उपविजेता की ट्रॉफी

मुंबई:- मैरिको लिमिटेड की निहार शांति पाठशाला फनवाला (एनएसपीएफ) ने मुंबई में लीप ऑफ वर्ड के साथ भागीदारी में नेशनल “वर्डपावर चैंपियनशिप” के दसवें संस्करण के फिनाले की मेजबानी की। इस अखिल भारतीय प्रतियोगिता में महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, झारखंड, बिहार, छत्तीसगढ़, आंध्रप्रदेश, तमिलनाडु और राजस्थान के प्रादेशिक सरकारी स्कूलों का प्रतिनिधित्व करते हुए दो लाख से ज्यादा टीचर्स और 8.9 लाख स्‍टूडेंट्स ने भाग लिया। क्‍लस्टर, बोर्ड, जिला और राज्य स्तर पर सिलेक्शन के कई राउंड क्‍वालिफाई करने के बाद अलग-अलग राज्यों के 23 स्टटूडेंट्स ने इस अंतर-राज्यीय (इंटर-स्‍टेट) प्रतियोगिता के फिनाले में अपनी जगह बनाई। इस प्रतियोगिता के प्रथम पांच स्थानों पर पांच राज्यों – महाराष्ट्र(3), बिहार(3), झाऱखंड(3), मध्यप्रदेश (2) और तमिलनाडु (1) ने कब्जा किया।

इस अवसर पर मैरिको लिमिटेड की सीएसआर कमिटी के चीफ लीगल ऑफिसर एवं ग्रुप जनरल काउंसेल एण्‍ड सेक्रेटरी अमित भसीन ने कहा, “पिछले कुछ वर्षों में निहार शांति पाठशाला फनवाला ने विद्यार्थियों को अच्‍छी गुणवत्‍ता की शिक्षा और पढ़ाई के अभिनव समाधानों तक पहुँच देकर उनके जीवन में सकारात्‍मक बदलाव किया है। हमें इस साल इवेंट की सफलता और इतने बड़े पैमाने पर इस कार्यक्रम के आयोजन पर हमें गर्व हैं। हम अपने सभी हितधारकों के सहयोग के लिए वाकई आभारी हैं। इन हितधारकों में अभिभावक, शिक्षक, आयोजक टीम और राज्य सरकार शामिल हैं।

हम सभी क्षेत्रों के स्टूडेंट्स का उत्साह देखकर काफी खुश हैं। यह चैम्पियनशिप नन्‍हे विद्यार्थियों को शिक्षा और उससे आगे के लिये जरूरी टूल्‍स और संसाधन प्रदान करने के लिये हमारी प्रतिबद्धता का प्रमाण है। हमारा मानना है कि भाषा में निपुणता एक महत्‍वपूर्ण कौशल है, जोकि शैक्षिक एवं पेशेवर जीवन में सफल होने में विद्यार्थियों की मदद कर सकता है और हमें इस आयोजन के माध्‍यम से अपने प्रयास का असर देखकर बड़ा गर्व महसूस होता है।”

इसके अलावा विजेताओं को एक स्वर्ण पदक, सर्टिफिकेट, ट्रॉली बैग, स्पोर्ट्स किट, स्पोर्ट्स वियर के दो सेट के साथ मैरिको लिमिटेड का एक्सक्लूसिव गिफ्ट हैंपर भी मिला। इन स्टूडेंट्स के शिक्षकों को सिल्वर मेडल, ट्रॉली बैग और मैरिको हैंपर मिला। प्रतियोगिता के उप विजेताओं को सर्टिफिकेट के साथ रजत पदक, स्पोर्ट्सवियर के 2 सेट और मैरिको लिमिटेड के उत्‍पादों के साथ हैंपर शामिल है। उनके शिक्षकों को सिल्वर मेडल, ट्रॉली बैग और मैरिको हैंपर भी मिला।

फिनाले में शामिल अन्य दूसरे स्टूडेंट्स को भी स्पोर्ट्सवियर के 2 सेट और मैरिको लिमिटेड की ओर से गिफ्ट हैंपर भी प्राप्‍त हुए। विभिन्न राज्यों के सरकारी स्कूलों में यह अपनी तरह की पहली प्रतियोगिता है, जिससे स्टूडेंट्स को अंग्रेजी भाषा पढ़ने, लिखने और बोलने में आत्मविश्वास जगाने में मदद की है। इसके साथ ही, निहार शांति पाठशाला फनशाला प्रोग्राम से स्‍टूडेंट्स को भाषा पर अपनी पकड़ उल्लेखनीय ढंग से सुधारने में मदद मिली।

निहार शांति पाठशाला फनशाला पहल, जिसे 2012 में बच्चों की शिक्षा को बेहतर बनाने के नेक कार्य को बढ़ाने के लिए लॉन्च किया गया था, ने अब तक 4.17 लाख स्टूडेंट्स को प्रभावित किया है और यह 2.89 लाख टीचर्स तक पहुंची है। इस पहल के साथ, मैरिको लिमिटेड का उद्देश्य 2025 तक 10 लाख बच्चों को शिक्षित बनाना है और उन्हें भाषा लिखने, बोलने और समझने में प्रवीण बनाना है।

मशहूर हस्तियों ने इस कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। इनमें शामिल हैं;
● धनराजू एस, राज्य शिक्षा केंद्र के शिक्षा निदेशक, मध्यप्रदेश (आईएएस)
● डॉ. संजय पटवा ( संयुक्त निदेशक, आरएसके)
● डॉ. रविंद्र त्रिपाठी (कंट्रोलर आरएसके)
● शेखर सराठे (एमआईएस कॉर्डिनेटर)
● अशोक व्यास (कंट्रोलर, आरएसके)
● सौरभ जैन (प्रोग्राम मैनेजर, द एजुकेशन अलायंस)
● डॉ. सुरेंद्र कुमार (लैंग्वेज हेड-एससीईआरटी-बिहार)
● शशिकांत शानबाग (संस्थापक टीम सदस्य-गैलेक्सी सरफेक्टेंट्स)
● डॉ. वेंकट शेडके (टेक्निकल सर्विसेज के हेड-केमिन)
● मिस ज्योति वाडमारे (प्रोग्राम निदेशक-विभा इंडिया)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *